Mallika Mallika Lyrics penned by Prashant Ingole, music composed by Mani Sharma, and sung by Ramya Behra from the Bollywood cinema ‘Shaakuntalam‘.

Mallika Mallika Hindi Song Credits

Shaakuntalam Hindi Film Release Date – 17th February 2023
Director Gunasekhar
Producer Neelima Guna
Singer Ramya Behra
Music Mani Sharma
Lyrics Prashant Ingole
Star Cast Samantha, Dev Mohan
Video Label

Mallika Mallika Maaliti Maalika
Hai Kahan Hai Kahan Raja Is Dil Ka

Mallika Mallika Maaliti Maalika
Hai Kahan Hai Kahan Raja Is Dil Ka
Hamsika Hamsika Jao Na Hamsika
Apne Sang Lao Na Raja Is Dil Ka

Ek Chhota Sa Phool Mere Bheetar Khila
Aaj To Pyaar Ka Lo Ji Tyohaar Hai

Aaha, Neelveni Phoolon Ki Tarah Khili
Raja Aayenge, Jab Khud Ko Bhent Karna

Jahan Pe Milte Hain Rishi Muni
Wahan Pe Pyaar Khila

Madhur Milan Yeh Sapno Ka
Shubh Hi Shubh Hoga
Swapnika Chaitrika O Priye Netrika
Hai Kahan Hai Kahan Raja Is Dil Ka

Baadalon Tum Chalo… Tum Chalo
Baadalon Tum Chalo… Swami Se Jab Milo
Baarishon Veena Ban Prem Geet Gao Na
Priye Ki Kokh Mein Nanhi Jaan Hai Pali
Jaldi Aane Kaho Raah Dikhlao Na

Jagmagati Huyi Aaj Ki Raat Hai
Chandini Ki Tarah Apna Yeh Prem Hai

Ratsa Aasmaan Mein Taaron Ne Banaya

Dharti Pe Dilon Ka Mausam Jagmagaya
Phoolon Kaliyon Ki Charnon Mein
Man Yeh Bheeg Jaaye Hai
Ori Kamal Naina Prem Yehi Hai Samjha
Sookhe Patton Sa Hai Aashram Vaasi Dil
Unke Aane Ki Aas Pe Zinda Hai

Hey Priye Hey Priye Preet Kyun Sheet Hai
Mere Man Ki Tarah Dharti Bhi Dang Hai
Jitni Bhi Barf Ho Jitne Bhi Dard Hon
Is Nanhi Si Jaan Ki Suraksha Karo

Ummeedon Ke Sabhi Patte Murjh Gaye
Jab Yeh Phoolenge Main Khilungi Kya
Sardi Se Kya Lena Jab Aayi Godbharai
Chinta Na Karo Priye Khud Mein Tum Basant Ho

Maah Maah Hain Beet Gaye
Lehar Lehar Ki Tarah
Sada Rahe Jo Khilta Hua
Ratna Janma Do

Raah Woh Dekh Ke
Aankhein Thak Si Gayi
Dil Ko Ummeed Hai
Aayenge Woh Abhi

मल्लिका मल्लिका मालिति मालिका
है कहां है कहां राजा इस दिल का है

मल्लिका मल्लिका मालिति मालिका
है कहां है कहां राजा इस दिल का है
हंसिका हंसिका जाओ न हंसिका

अपने संग लाओ न राजा इस दिल का
एक छोटा सा फूल मेरे भीतर खिला
आज तो प्यार का लो जी त्योहार है

आह नीलवेनी फूलों की तरह खिली
राजा आएंगे जब खुद को भेंट करना

जहां पे मिलते हैं ऋषि मुनि
वहां पे प्यार खिला

मधुर मिलन ये सपनो का
शुभ ही शुभ होगा
स्वप्निका चैत्रिका ओ प्रिये नेत्रिका
है कहां है कहां राजा इस दिल का है

बादलों तुम चलो तुम चलो
बादलों तुम चलो स्वामी से जब मिलो
बारीशों वीणा बन प्रेम गीत गाओ ना
प्रिये की कोख में नन्ही जान है पली
जल्दी आने कहो राह दिखलाओ ना

जगमगती हुई आज की रात है
चांदनी की तरह अपना ये प्रेम है

रास्ता आसमा में तारों ने बनाया

धरती पे दियों का मौसम जगमगया
फूलों कलियों के झरनों में
मन ये भीग जाए है
ओरी कमल नैना प्रेम यही है समझा
सूखे पत्तों सा है आश्रम वासी दिल
उनके आने की आस पे जिंदा है

हे प्रिये हे प्रिये प्रीत क्यूं शीत है
मेरे मन की तरह धरती भी दंग है
जितनी भी बर्फ हो जितने भी दर्द हों
इस नन्ही सी जान की सुरक्षा करु

उम्मीदों के सभी पत्ते मुरझा गए
जब ये फूलेंगे मैं खिलूंगी क्या

सर्दी से क्या लेना जब आई गोद भराई
चिंता न करो प्रिये खुद में तुम बसंत हो

माह माह हैं बीत गए
लहर लहर की तरह
सदा रहे जो खिलता हुआ
रत्न जन्म तुम दो

राह वो देख के आंखें थक सी गई
दिल को उम्मीद है आएंगे वो अभी

Watch मल्लिका मल्लिका Music Lyrical Video